Dhanada Ratipriya Yakshini Sadhana Book | धनदा रतिप्रिया यक्षिणी साधना पुस्तिका

4,500.009,500.00

  • भोजपत्र पर अलंकृत​ “श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” यंत्र​ ।

  • “श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना शुरु करनें के पूर्व पूर्ण करनें की साधना का विधिवत् संपूर्ण मार्गदर्शन​ ।

  • “श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना की सफलता के लिये अष्टांग​ योग विचार​ ।

  • “श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना की संपूर्ण विधि ।

संकल्प विषय

  • यह साधना स्त्री जातक और पुरुष जातक दोनो कर सक्ते है ।

  • डिफ़ॉल्ट रूप से ७ दिन, १३ दिन, २१ दिन​, और ४० दिन के संकल्प दिये जायेंगे ।

  • अगर साधक अपनी कोई खास इच्छा के अनुसार संकल्प बनवाना चाहे तो हमें संपर्क करें । इसके लिये कोइ मूल्य नहीं है ।

  • साधनाओं में किये गये संकल्प गुप्त रख़ना साधना की सफ़लता के लिये अनिवार्य है ।

Rs. 4,500/- includes

  • One Book Any One Language
  • No Shipping Charges  Within India
  • Languages available – हिन्दी / ગુજરાતી / मराठी / English

Rs. 9,500/-  includes

  • One Book Any One Language
  • 2 telephonic consultations of 15 minutes each purely for discussing the experiences encountered during the Sadhana phase & receiving further guidance for better results
  • Validity of the consultation service is 1 year from the date of purchase of the Sadhana book
  • No Shipping Charges  Within India
  • ₹ 400 extra for the shipping out of India
  • Languages available – हिन्दी / ગુજરાતી / मराठी / English

See product description for more details or Click Here

Share

100% Purchase Protection

Original Products | Secure Gateway

Clear

Leave Your Note Here

No products in the cart.

View Cart

Description

भोजपत्र पर अलंकृत​ श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” यंत्र​ 

भोजपत्र पर अलंकृत​ “कुबेर​” यंत्र​ ।

“श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना शुरु करनें के पूर्व पूर्ण करनें की साधना का विधिवत् संपूर्ण मार्गदर्शन​ ।

  • दोनो साधनाएँ ११ – ११ दिन की रहती हैं ।

  • दोनो साधनाएँ शुरु करने का समय ।

  • दोनो साधनाओं की संपूर्ण विधि ।

“श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना की संपूर्ण सामग्री माहिति ।

  • सामग्री जातक ने स्वयं एकत्रीत करनी रहेगी ।

  • अगर हमारी तरफ से सामग्री चाहिये तो हमें अलग से संपर्क करें ।

“श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना की सफलता के लिये अष्टांग​ योग विचार​ ।

  • यम – Attitude towards the environment/society

  • नियम – Attitude towards thyself

  • ३२ आसन​ – 32 Physical postures

  • प्राणायम – Restraint or expansion of the breath

  • प्रत्याहार – Withdrawal of the senses

  • धारणा – Concentration

  • ध्यान मंत्र​ – Meditation

  • समाधी – Complete Integration

“श्री धनदा रतिप्रिया यक्षिणी” साधना की संपूर्ण विधि ।

  1. पूजन​

    • शांति पाठ मंत्र​

    • गुरुपादभिवन्दनम्

    • प्राणायम​

    • सर्वदव नमन​

    • संकल्प

    • दिग्रक्षणम्

    • तांत्रिके

    • भैरव आज्ञा

    • स्थल शुद्धि

    • भूशुद्धि

    • भूतशुद्धि

    • तिलक मंत्र​

    • पंच देव पूजन

    • ​कलश पूजन​

    • श्री गुरु पूजन​

    • द्वि देव पूजन​

    • विनियोग​

    • न्यास (७ प्रकार के न्यास​)

    • ध्यान​

    • आवाहन्

    • प्राणप्रतिष्ठा

    • कोण पूजा / तर्पण​

    • संपूर्ण स्थापना विधि

  2. जाप​ विधान​

  3. धनदा रतिप्रिया यक्षिणी कवच​

  4. धनदा रतिप्रिया यक्षिणी स्तोत्र​

  5. देवी सहस्त्रनाम​

    उद्यापन​

Additional information

Languages

English, मराठी, हिन्दी, ગુજરાતી

Sadhana Guidance

With Consultation During Sadhana, Without Consultation During Sadhana

WhatsApp chat